एचडी देवगौडा का जीवन परिचय

एचडी देवगौडा का पूरा नाम हरदनहल्ली दोद्देगोव्डा देवगौड़ा है। वे देश के 11वें प्रधानमंत्री बनें। देवगौडा 20 साल की आयु से ही सक्रिय राजनीति में हैं। देवगौडा प्रधानमंत्री बनने से पहले कर्नाटक के मुख्यमंत्री भी रह चुके थे। एचडी देवगौडा किसानों की लडाई लडने वाले नेताओं के रूप में जाने जाते हैं।

एचडी देवगौडा का जीवन परिचय

एचडी देवगोडा का जन्म 18 मई 1933 को कर्नाटक के बोक्कालिगा जाति से परिवार रखने वाले किसान दोडे गोड़ा के घर हुआ था। एचडी देवगौडा जवानी में अपने पिता के साथ खेतों में काम करते थे। इसके बाद कुछ समय के लिये उन्होने ठेकेदार के रूप में काम किया। एचडी देवगौडा ने सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया है।1953 में एचडी देवगौडा कांग्रेस ज्वाइन करके राजनीति में जुड गये। 1954 में उनका विवाह चेनममा से हो गया। एचडी देवगौडा के छ: बच्चे हैं। उनके एक बेटे एचडीडी कुमारस्वामी कर्नाटक के मुख्यमंत्री हैं।

एचडी देवगौडा 1953 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गये और 1962 तक इसक सदस्य रहे। वह हॉलनसारिपुरा के अंजनेय सहकारी सोसायटी के अध्यक्ष रहे और बाद में होलनारसिपुरा के तालुका विकास बोर्ड के सदस्य बनें। 1962 में गौडा वे निर्दलीय हॉलनारसिपुरा विधान सभा से विधायक बनें। बाद में वे 1962 से 1989 तक लगातार 6 बार विधायक रहे। इंदिरा गांधी के विरोध में जब कांग्रेस के दो फाड हुये तो वे कांग्रेस ओ में चले गये और मार्च 1972 से मार्च 1976 तक विधानसभा में विपक्ष के नेता के रूप में कार्य किया। ​आपातकाल के दौरान उन्हे गिरफ्तार करके बैंगलोर सेंट्रल जेल में कैद किया गया था।

बाद में देवगौडा ने जनता पार्टी को ज्वाइन कर लिया। 1983 से 1988 तक रामकृष्ण हेगडे की अध्यक्षता में कर्नाटक की जनता पार्टी सरकार में मंत्री के रूप में काम किया। 1984 में जनता दल की राज्य इकाई के अध्यक्ष बनें। उनके नेतृत्व में 1994 में पार्टी ने विधान सभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन् किया और वह कर्नाटक के 14वें मुख्यमंत्री बनें।

एचडी देवगौडा प्रधानमंत्री के रूप में

1996 के आमचुनावों में जब पी.वी. नरसिम्हा राव के नेतृत्व में जब कांग्रेस बहुमत हासिल नही कर पाई तब एक संयुक्त मोर्चा बना जिसमें गैर कांग्रेस और गैर भाजपा क्षेत्रीयों पार्टियों ने कांग्रेस को समर्थन दिया और सरकार का नेतृत्व करने के लिये एचडी देवगौडा को चुना गया। वे देश के 11वें प्रधानमंत्री बनें। लेकिन वे ज्यादा समय तक इस पद पर नही रह सके।

देवगौडा जी देश के नीची जातियों के हक के लिये कार्य करने वाले नेता माने जाते हैं। कर्नाटक की स्थिति को सुधारनें में उनका अहम योगदान हैं। 2014 में देवगौडा 16वीं लोकसभा सदस्य चुने गये। आज 82 वर्ष की उम्र में भी एचडी देवगौडा आज भी भारतीय राजनीति में पूरी तरह से एक्टिव हैं।

ये भी पढें:—
1. अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन परिचय
2. पी.वी. नरसिम्हा राव का जीवन परिचय
3. चन्द्रशेखर का जीवन परिचय
4. विश्वनाथ प्रताप सिंह का जीवन परिचय
5. राजीव गांधी का जीवन परिचय