दोस्तो वैज्ञानिकों के बारे में तो आपने सुना ही होगा। वैज्ञानिक निरंतर नई—नई रिसर्च करते रहते हैं जो कि मानव जीवन के लिये लाभकारी होती है। अगर आप भी विज्ञान में रूचि रखते हो और निरंतर नई चीजें सीखने का प्रयास करते रहते हो तो आप भी इसी क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हो।

वैज्ञानिक कैसे बनें

आप वैज्ञानिक बनने की तैयारी 10वीं तथा 12वीं के बाद ही शुरू कर सकते हो। आप जितनी जल्दी तैयारी शुरू कर दोगे आपके लिये उतना ही बेहतर है। अगर आप विज्ञान में होशियार हैं तो साइंटिस्ट बनकर अपना और देश का गौरव बढा सकते हो।

12वीं के बाद ही तैयारी शुरू करने से आपको जल्दी सफलता मिलेगी। आप इसरो के लिये भी तैयारी कर सकते हैं। इसरो में जाने के लिये आपको प्रवेश परीक्षा पास करनी पडेगी। जिसके लिये आपको 12वी पीसीएम और बीटेक 65 प्रतिशत के साथ पूरी करनी होगी।

इसरो की परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्न होते हैं हर विषय के दो खण्ड होते हैं। इस परीक्षा को पास करनें के लिये 60 प्रतिशत अंक आना जरूरी होता है इसके बाद इण्टरव्यू होता है। जिनके नम्बर मिलाने के बाद ​मेरिट बनती है और मेरिट के आधार पर चयन किया जाता है। इसरो में हर साल जनवरी के महीनें में रिक्तियां निकलती हैं। जिन्हे आप इसरो की वेबसाइट पर देख सकते हैं।

साइंटिस्ट कैसे बनें पूरी जानकारी

वै​ज्ञानिक बनने के लिये आपके अंदर कुछ खास गुण होने चाहिये। अगर आप सोचते हैं कि देख—देख कर आप भी रिसर्च करना सीख जाऐंगे तो यह गलत होगा। वैज्ञानिक बनने के लिये आपको अपने अंदर कुछ खूबियां विकसित करनी पडेंगी।

कारण खोजने में रूचि

आपको प्रत्येक कार्य में कारण खोजने की रूचि होनी चाहिये। जैसे आप किसी स्पीकर को बजते हुये देख रहें हैं तो आपको उसमें कारण ढूंढने होंगे जैसे यह स्पीकर कैसे बज रहा है। इसमें आवाज कहां से आ रही है। ऐसे कारण ढूंढते हुये शायद आप कुछ ऐसा जान जाओ जो अभी तक किसी को न पता हो।

भाषाओं को सीखना

वैज्ञानिक का बहुभाषी होना बेहद जरूरी है। क्योंकि विज्ञान की कोई सीमा नही हैं। दूसरे देशों के विज्ञानिकों के विचार और जानकारी प्राप्त करनें में भाषा एक जरूरी माध्यम होती है।

रिसर्च पढना

आपके अंदर रिसर्च पढने की रूचि होनी चाहिये। महान वै​ज्ञानिकों की रिसर्च और उनके जीवन परिचय पढें। जिससे आपको प्रेरणा मिलेगी और नई सीख मिलेगी।

वैज्ञानिक बनने के लिये शैक्षिक योग्यता

साइंटिस्ट बनने के लिये कोई विशेष कोर्स करने की आवश्यकता नही होती है। आपको बस 12वीं फिजिक्स, कैमिस्ट्री, मैथ और अंग्रेजी विषयों के साथ करना होगा। इसके बाद आपको आगे की पढाई में ग्रेजुएशन, पोस्टग्रेजुएशन, इंजीनियरिंग कुछ भी कर सकते हो। बस आपके पास विज्ञान संकाय के विषय होने चाहिये। साइंटिस्ट बनने के लिये कोई आयु सीमा नही होती है। आप किसी भी उम्र में इसके लिये आवेदन कर सकते हो। वहीं किसी भी विभाग मे रहते हुये अपनी रिसर्च जारी रख सकते हो।

इसरो में ​वैज्ञानिक कैसे बनें

इसरो में वैज्ञानिक बनने के लिये आपको आईआईएसटी (इंडियन इंस्टीटयूट आफ स्पेश टेक्नॉलॉजी) में एडमिशन लेना होता है। आईआईएसटी में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट को इसरो सीधे वैज्ञानिक के पद पर भर्ती कर लेता है। इस इंस्टीटयूट में एडमिशन लेने के लिये आपको 12वीं पीसीएम विषयों के साथ करना होगा। जिसके बाद आपको जेईई (ज्वाइंट एंट्रेस एग्जाम) देना होता है। जेईई में अच्छी रैंक लाने वाले स्टूडेंटस को आईआईएसटी में दाखिला मिल जाता है। आईआईएसटी में आप 4 साल की बीटेक या 5 साल का एक डुअल डिग्री प्रोग्राम होता है। यहां आपको अच्छा प्रदर्शन करना होता है। लगभग सभी स्टूडेंट्स को इसरो में रिक्रूटमेंट मिल जाता है। इसके अलावा प्रत्येक वर्ष इसरो द्वारा आईआईटी और एनआईटी जैसे टॉप इंस्टीटयूट से प्रतिभाशाली लोगों को चुनकर रिक्रूट करती है।

सांइटिस्ट के सैलरी

सांइटिस्ट की सैलरी अलग अलग पदों पर अलग होती है। शुरूआत में आसानी 50000 से 1 लाख रूपये महीने की सैलरी मिल जाती है जो​ कि प्रमोशन के बाद बढती जाती है। इसके अलावा सांइटिस्ट को रहने के लिये आवास, ट्रान्सपोर्टस, मेडिकल आदि सुविधाऐं दी जाती हैं।