अगर आप एक ब्लॉग बनाने जा रहे हैं तो आपके सामने सबसे पहले यह सवाल उठता है कि आखिर ब्लॉग का Domain Name क्या लें। लगभग सभी नये ब्लॉगर डोमेन नेम को लेने से पहले ज्यादा गम्भीरता नही दिखाते हैं, जबकि ये सही नही हैं। अगर आप सीरीयस ब्लॉगिंग करना चाहते हो ब्लॉग का डोमेन नेम भी बहुत महत्वपूर्ण है। हॉ अगर आप टाइम पास कर रहे हो तो कुछ भी Domain Name रख सकते हो। एक परफेक्ट ब्लॉग के लिये एक परफेक्ट डोमेन नेम होना जरूरी है।

डोमेन नेम क्या होता है Domain Name Kya Hota Hai

डोमेन नेम आपके ब्लॉग का एक एड्रेस होता है जिसके जरिये इण्टरनेट पर आपके ब्लॉग तक पहुचा जाता है। ये आपके ब्लॉग के नाम से जुडा होता है। जैसे हमारे इस ब्लॉग का नाम ज्ञानी बाबू है तो हमारा डोमेन नेम ज्ञानीबाबू डॉट कॉम हैं। यानी कोई भी www.gyanibabu.com की मदद से हमारे ब्लॉग पर आ सकता है।

डोमेन नेम चुनने से पहले आपको कुछ चीजों पर ध्यान देना होगा। अगर आप बिना सोचे समझे ब्लॉग का डोमेन नेम रख लेते हैं तो एक लम्बे समय के बाद आपको अपनी कमी का एहसास होगा। उस समय आपकी स्थिति ये होगी कि आप डोमेन नेम बदल भी नही पाओगे। इसलिये ब्लॉग की शुरूआत करने से पहले ही डोमेन पर भी अच्छी तरह से विचार कर लें। क्योंकि डोमेन नेम से ही आपके ब्लॉग की पहचान होती है। आइये जानते हैं कि ब्लॉग का डोमेन नेम चुनने से पहले किन—किन बातों का ध्यान रखना चाहिये।

1. ब्लॉग से जुडे टॉपिक पर आधारित डोमेन नेम चुनें

आपका डोमेन आपके ब्लॉग की पहचान होता है। आपके ब्लॉग के डोमेन से ही विजीटर इस बात का अनुमान लगा लेते हैं कि आपके ब्लॉग पर किस प्रकार का कंटेट होगा। उदाहरण के लिये www.onlymyhealth.com डोमेन से आप आसानी से समझ सकते हैं कि इस ब्लॉग/बेबसाइट पर स्वास्थय से जुडा कंटेट उपलब्ध है या फिर www.earnmetro.in से आप अन्दाजा लगा सकते हो कि इस ब्लॉग पर पैसा कमाने से जुडा कंटेट उपलब्ध होगा। इसलिये आप अपने ब्लॉग का कंटेट जिस प्रकार का रखना चाहते हो आपको डोमेन भी उससे मिलता जुलता होना चाहिये। इससे यूजर पर एक अलग प्रभाव पडता है।

2. आसान व आकर्षित डोमेन चुने

डोमेन नेम आसान होना चाहिये जिससे विजीटर को उसे याद करने मे दिक्कत न हो। आपका डोमेन आकर्षित होना चाहिये जिससे विजीटर को डोमेन नेम जल्दी याद हो। वहीं डोमेन नेम बहुत ज्यादा कठिन नही होना चाहिये। डोमेन नेम आसान होना चाहिये​ जिसे लोग बिना किसी गलती के टाइप कर सकतें। क्योंकि टाइपिंग एरर की वजह से विजीटर किसी दूसरे डोमेन पर जा सकता है। आपके ब्लॉग का डोमेन बहुत ज्यादा लम्बा न हो। डोमेन छोटा होना चाहिये।

3. सही डोमेन एक्सटेंशन चुने

डोमेन एक्सटेंशन से मतलब आपको डोमेन के पीछे लगने बाले .com या .in आदि से है। ये डोमेन एक्सटेंशन कहलाते हैं। डोमेन नेम चुनने में डोमेन एक्सटेंशन पर भी ध्यान देना जरूरी है। डॉट कॉम एक पोपूलर एक्सटेंशन हैं इसलिये जरूरी है कि इस डोमेन नेम को चुनने में प्राथमिकता दिखाऐं। अगर किसी वजह से .com एक्सटेंशन नही मिल पाता है तो ही किसी अन्य एक्सटेंशन का चुने। लेकिन जिस एक्सटेंशन को चुनने रहे हैं वो Top Level ही होने चाहिये। यहॉ हम आपको सलाह देते हैं कि जहा तक सम्भव है .com डोमेन का ही चुने। अगर आपके ब्लॉग नेम से .com उपलब्ध नही हैं और यदि सम्भव है तो अपने ब्लॉग के नाम मे बदलाव करें। क्योंकि अगर अगर आपके ब्लॉग से मिलता जुलता डोमेन पहले से मार्केट मे हैं तो आपको काफी दिक्कतों का सामना करना पडेगा। यदि सम्भव हो तो आपके डोमेन से मिलते जुलते सभी टॉप एक्सटेंशन आप खरीद लें जिससे बाद में आपकी ब्रॉडिंग आपकी मेहनत का मजा कोई और न ले सके। यदि आप किसी देश को टारगेट कर रहे हैं तो आप उस देश का एक्सटेंशन ले सकते हैं। जैसे आप India के लिये .in या US के लिये .us ले सकते हैं।

4. पोपूलर ब्लॉग से मिलते जुलते नामों से बचें

नये ब्लॉगर अक्सर ऐसा करते हैं। जो ब्लॉग पहले से पोपूलर हैं उनसे मिलता जुलता नाम तलाशते हैं। ज्यादातर हिन्दी ब्लॉगर ऐसा करते हैं। लेकिन ये सही नही हैं। इस तरह के डोमेन नेम से आपके ब्लॉग की ब्रॉडिंग नही हो पाती है। आपका ब्लॉग हमेशा दोयम दर्जे का ब्लॉग ही माना जाता है। आपके ब्लॉग की खुद की पहचान बनने में काफी दिक्कतों का सामना आपको करना पडेगा।

5. पुराने Expired Domain को चुन सकते हैं

अगर आपको कोई ऐसा डोमेन नेम पता है जिस पर पहले कोई ब्लॉग चलता था और उसका टॉपिक आपके ब्लॉग के टॉपके से मेल खाता हो और अब वो ब्लॉग नही चलता और उसका डोमेन अब उपलब्ध हौ तो बिना किसी देर किये उस डोमेन का खरीद लीजिये। क्योंकि उस डोमेन की अपनी एक वैल्यू होगी। वो पहले से कई सारी जगह लिस्ट होगा। उसके पास बैकलिंक होंगे। अगर आपको ऐसे किसी डोमेन के बारे मे नही पता तो इण्टरनेट पर ऐसी कई वेबसाइट हैं जिनकी मदद से आप ऐसे डोमेन का ढूंढ सकते हो।

एक अच्छा डोमेन नेम रखने से इस बात की कतई गारण्टी नही हैं कि आपका ब्लॉग सफल हो जाऐगा। ब्लॉग केवल क्वालिटी कंटेट से ही सफल होता है। डोमेन ब्लॉग की सफलता में सीधे तौर से कोई भूमिका नही निभाता। लेकिन ये आपके ब्लॉग की ब्रॉण्डिंग करने में आपकी मदद करता है। इसको नजरअंदाज न करें।