PPF Account क्या होता है। पूरी जानकारी हिन्दी में

बैंकिंग सिस्टम में आपको एक शब्द अक्सर सुनने को मिलता होगा वो है पीपीएफ। PPF अकाउण्ट बचत करनें का एक अच्छा तरीका है और जब बात टैक्स सेविंग की आती है तो PPF टैक्स सेविंग का अच्छा विकल्प है। आपके मन में भी पीपीएफ को लेकर कुछ सवाल होंगे तो आइये जानते हैं कि पीपीएफ क्या है और एक पीपीएफ अकाउण्ट कैसे खुलवाऐं और क्या है पीपीएफ के जरिये बचत करनें के तरीके।

पीपीएफ (PPF) क्या है

पीपीएफ एक सरल और फायदेमंद स्कीम हैं। इसके जरिये आप बचत कर सकते हैं और इन्वेस्ट करके एक अच्छा मुनाफा भी प्राप्त कर सकते हो। पीपीएफ का पूरा नाम Public Provident Fund है। जिसे हिन्दी में सार्वजनिक भविष्य निधि खाता भी कहते हैं।

पीपीएफ अकाउण्ट की शुरूआत वित्त मंत्रालय ने 1968 में की थी। PPF Account पूरी तरह से कर मुक्त अकाउण्ट हैं। इस खाते में जमा की गई राशि और उस पर लगने वाले ब्याज पर किसी भी प्रकार का टैक्स नही लगेगा। टैक्स बचाने और भविष्य की सेविंग्स के लिये इस योजना को शुरू किया गया था। लेकिन इतनी अच्छी स्कीम होने के बाद भी कम लोगों को ही इसके बारे में पता होता है क्योंकि PPF Account खुलवाने के लिये एजेन्ट को कोई कमीशन नही दिया जाता है।

वित्त मंत्रालय द्वारा जारी इस योजना का उद्देश्य यह है कि गैर संगठित लोग जिनके पास ईपीएफ, पेंशन जैसी सुविधा नही हैं वे भी अपनी छोटी सेविंग को पीपीएफ के जरिये अपने भविष्य को बेहतर बना सकें। पीपीएफ ट्रिपल ई श्रेणी ( E-E-E : Exempt-Exempt-Exempt) में रखी जाती है। इस स्कीम में इन्वेस्ट किये गये पैसे पर शुरू से लेकर अन्त तक आप पर कोई टैक्स नही लगता है। इनकम टैक्स अधिनिम 80सी के तहत इसका प्रावधान हैं। पीपीएफ अकाउण्ट में एक साल में मिनिमम 500 रूपये जमा करने होंगे और अधिकतम 1.5 रूपये ही जमा किये जा सकते हैं।

पीपीएफ योजना के तहत किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक जैसेः- स्टेट बैंक आॅफ इण्डिया, बैंक आॅफ बडौदा, पंजाब नेशनल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक आदि में खुलवाया जा सकता है। पीपीएफ अकाउण्ट पोस्ट आॅफिस में भी खोला जा सकता है। ये प्रक्रिया बेहद आसान हैं और अब आप आॅनलाइन भी अपना पीपीएफ अकाउण्ट खोल सकते हो। पीपीएफ खाते को आप एक बैंक से दूसरे बैंक में ट्रान्सफर भी करा सकते हो

पीपीएफ अकाउण्ट (PPF Accounts) कैसे खुलवाऐं

आप पीपीएफ अकाउण्ट को किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा में जाकर खुलवा सकते हो। इसके लिये आप आपको मिनिमम 500 रूपये जमा करने होंगे। पीपीएफ खुलवानें के लिये जरूरी दस्तावेज में आपका पहचान का प्रमाण पत्र व पते का प्रमाण पत्र होना आवश्यक है। पीपीएफ खाते पोस्ट आॅफिस में खुलवा सकते हैं। पीपीएफ अकाउण्ट खुलवाने के लिये आयु सीमा का कोई बन्धन नही हैं। पीपीएफ अकाउण्ट व्यक्तिगत ही खुलवाया जा सकता है आप पीपीएफ अकाउण्ट को ज्वाइन्ट नही खुलवा सकते हो।

एक व्यक्ति एक ही पीपीएफ अकाउण्ट खुलवा सकता है। अगर उसके एक से ज्यादा पीपीएफ अकाउण्ट हैं तो उसको एक ही पीपीएफ अकाउण्ट पर ब्याज और टैक्स में छूट मिलेगी। इसके अलावा आपके बाकी पीपीएफ अकाउण्ट बन्द भी किये जा सकते हैं। आप अपने परिवार वालों के लिये भी पीपीएफ अकाउण्ट खुलवा सकते हैं। एक परिवार के लिये केवल चार पीपीएफ अकाउण्ट (स्वयं, पति/पत्नी और दो बच्चे) ही खोले जा सकते हैं और सभी अकाउण्ट में अधिकतम निवेश 1.5 लाख से ज्यादा नही होना चाहिये।

पीपीएफ अकाउण्ट (PPF Account) में निवेश कैसे किया जाता है

पीपीएफ अकाउण्ट में एक साल में केवल 12 बार ही डिपोजिट किया जा सकता है। आपको साल में कम से कम 500 रूपये की राशि जमा करनी होती हैं। वहीं आप एक साल में अधिकतम 1.5 लाख रूपये ही जमा कर सकते हैं। इससे ज्यादा रूपये जमा करनें पर आप को ब्याज नही मिलेगा। अगर आपने अपने परिवार का पीपीएफ अकाउण्ट खुलवाया है और उसमें अभिभावक भी आप है यानि आप ही पैसा जमा करते हैं तो आपके पूरे परिवार का निवेश 1.5 लाख से ज्यादा नही होना चाहिये। अगर आप अपने खाते में 1 लाख रूपये जमा कर दिये हैं तो आप अपने पति/पत्नी और बच्चों के खाते में सिर्फ 50 हजार रूपये ही जमा कर सकते हो।

पीपीएफ अकाउण्ट से पैसा कैसे निकाले जाते हैं-

पीपीएफ अकाउण्ट परिपक्वता (मैच्युरिटी) की अवधि 15 साल के लिये होती है। पीपीएफ खाते के परिपक्व होने के बाद आप अपना पूरा पैसा निकाल सकते हो। आप बीच में भी अपना पैसा निकाल सकते हो लेकिन आप शुरूआत के पाॅच साल तक पैसे नही निकाल सकते हो। आप उसमें से छठवे साल में जमा राशि का 50 प्रतिशत पैसा निकाल सकते हो। आप वर्ष मंे सिर्फ एक बार पैसे निकाल सकते हो।

आप पीपीएफ अकाउण्ट को पाॅच साल के बाद बन्द भी कर सकते हो लेकिन इसके लिये आप पर जुर्माना लगेगा और हर वर्ष का 1 प्रतिशत ब्याज काट लिया जाऐगा। वहीं आप कुछ विशेष परिस्थितयों में ही पीपीएफ अकाउण्ट को समय से पहले बन्द कर सकते हैं। अकाउण्ट होल्डर की मृत्यु होने पर बिना जुर्माने के ही पैसे निकाले जा सकते हैं।

पीपीएफ अकाउण्ट पर मिलता है लोन

पीपीएफ अकाउण्ट का एक फायदा ये भी है कि आप उस पर लोन ले सकते हो। पीपीएफ अकाउण्ट में जमा राशि के हिसाब से आप लोन ले सकते हो। आप पाॅच साल के बाद छटवे साल में अपनी कुल जमा राशि का 25 प्रतिशत लोन ले सकते हो। पीपीएफ अकाउण्ट पर लोन की ब्याज दर आपको मिलने वाली ब्याज दर से 2 प्रतिशत ज्यादा होती है।

उम्मीद है कि आपको पीपीएफ के बारे में हमारी ये पोस्ट पसन्द आई होगी। अगर आपके मन में बैंकिंग से रिलेटेड कोई भी सवाल है तो आप कमेन्ट बाॅक्स के माध्यम से हमसे पूॅंछ सकते हैं। हम जल्दी से जल्दी आपको जबाब देंगे।