Virtual Debit Card क्या होता है। पूरी जानकारी

अगर आप बैंकिंग सिस्टम से जुडे हुये हैं तो आपने डेबिट कार्ड के बारे मे जरूर सुना होगा। डेबिट कार्ड बैंकिंग सुविधाओं को आसान करने के लिये बनाया गया है। डेबिट कार्ड के बारे में अधिक जानकारी आप इस लिंक पर क्लिक करके जान सकते हो। लेकिन आज कल एक नया प्रकार का डेबिट कार्ड प्रचलन में है जिसे हम वर्चुअल डेबिट कार्ड कहते। आइये जानते हैं कि ये वर्चुअल डेबिट कार्ड क्या होता और कैसे काम करता है।

वर्चुअल डेबिट कार्ड क्या है।

वर्चुअल डेबिट कार्ड इण्टरनेट से जनरेट किया गया एक कार्ड होता है जो डेबिट कार्ड वाले लगभग सभी काम कर सकते हैं। वर्चुअल डेबिट कार्ड केवल कुछ समय के लिये ही बनाया जाता है उसके बाद ये एक्सपाइर हो जाता है। वर्चुअल डेबिट कार्ड के बारे मे ंजानने से पहले आप यहाॅ क्लिक करके एक बार डेबिट कार्ड के बारे में जरूर जान लीजियेगा।

वर्चुअल डेबिट कार्ड असल में कम्प्यूटर द्वारा जनरेट एक कार्ड होता है। जिसे हम छू नही सकते। डेबिट कार्ड की तरह ही वर्चुअल डेबिट कार्ड पर 16 अंको का कोड होता है, एक्पाइरी डेट होती है और डेबिट कार्ड की तरह ही सीवीवी कोड होता है। वर्चुअल कार्ड का इस्तेमाल आॅनलाइन भुगतान के लिये किया जाता है इसे स्वाइप या एटीएम मशीन पर इस्तेमाल नही कर सकते।

वर्चुअल डेबिट कार्ड इण्टरनेट बैंकिंग द्वारा तैयार किया जाता है। इसमें आप जितना चाहो उतना फण्ड जमा कर सकते हो। इसके बाद आप इस डेबिट कार्ड का इस्तेमाल भुगतान के लिये कर सकते हो। अगर आप वर्चुअल डेबिट कार्ड में जो फण्ड लोड किया है अगर आपके उसे खर्च होने से पहले वो एक्पाइर हो जाता है तो आपका पैसा आपके खाते में वापस चला जाता है।

वर्चुअल कार्ड का इस्तेमाल आॅनलाइन फ्राॅड से बचने के लिये किया जाता है अगर आपको लगता है कि आपके डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से आपके साथ धोखाधडी हो सकती है तो आप वर्चुअल कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हो।

वर्चुअल कार्ड कैसे बनाया जाता है

वर्चुअल कार्ड को आॅनलाइन इण्टरनेट बैंकिंग के द्वारा बनाया जा सकता है। अगर आपके पास नेटबैंकिंग या डेबिट कार्ड है तो आप वर्चुअल डेबिट कार्ड बना सकते हो। अब कई कम्पनियाॅ आपको बिना बैंक अकाउण्ट के भी वर्चुअल डेबिट कार्ड जारी करती हैं।

भारत में सभी राष्ट्रीकृत बैंक वर्चुअल डेबिट कार्ड की सुविधा उपलब्ध कराती हैं। आप उनकी बेबसाइट पर जाकर वर्चुअल डेबिट कार्ड बना सकते हो। इसके लिये आपके पास बैंक खाता और नेटबैंकिंग या डेबिट कार्ड होना जरूरी होता है। कुछ बैंक इसके लिये मामूली सा चार्ज लेती हैं वहीं कुछ बैंको ने सुविधा निःशुल्क दे रखी है।

वर्चुअल डेबिट कार्ड के फायदे

1. वर्चुअल डेबिट कार्ड से आप बिना अपने बैंक की जानकारी शेयर किये भुगतान कर सकते हो।
2. वर्चुअल डेबिट कार्ड से आॅनलाइन भुगतान करना डेबिट कार्ड की तुलना में ज्यादा सेफ होता है।
3. अगर आप को किसी ऐसी बेबसाइट पर भरोसा नही है कि वो आपके डेबिट कार्ड की डिटेल के साथ छेड नही करेगी ऐसी बेबसाइट के इस्तेमाल के लिये वर्चुअल डेबिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

वर्चुअल डेबिट कार्ड के नुकसान

1. वर्चुअल कार्ड से आप स्वाइप करके भुगतान नही कर सकते इससे केवल आॅनलाइन भुगतान ही किया जा सकता है।
2. वर्चुअल कार्ड बहुत कम समय के लिये होता है। कुछ समय बाद ये एक्सपायर हो जाता है। इसलिये आपको बार बार वर्चुअल डेबिट कार्ड जनरेट करना पडता है। (हाॅलांकि ये सुरक्षा की दृष्टि से सही है)